आइए, आज कथाकार रेणु के जन्मदिन पर उनकी कहानी ठेस पढ़ते हैं

04 मार्च 1921 को अररिया, बिहार के औराही हिंगना में जन्मे फणीश्वर नाथ रेणु मैट्रिक पास करने के बाद ...

ज़िन्दगी को भी प्यार की दरकार है…

हम स्वास्थ्य की बात करते तो हैं पर हम स्वास्थ्य को लेकर कितने संजीदा और कितने संवेदनशील हैं, यह भी ...

जनता का आदमी | आलोक धन्वा की 1972 में प्रकाशित हुई यह कविता

2 जुलाई सन् 1948 में बिहार मुंगेर जिले में जन्मे आलोक धन्वा की पहली कविता 'जनता का आदमी' 1972 में ...

Two Years of Delhi Pogrom, Survival Awaits Justice

A group presented the findings of the report in a press conference in Delhi on Monday, which ...

On 20th Anniversary of the Gujarat Genocide, Shweta Sanjiv Bhatt writes:

Today marks 20 years of a fight you did not pick, a fight, which was thrust upon you, which snatched ...

नई खेती, विद्रोही की वो क्रांतिकारी कविता

और अब तो दोनों में एक होकर रहेगा— या तो ज़मीन से भगवान उखड़ेगा या आसमान में धान जमेगा। ...

Instagram

Facebook

Twitter

Subscribe to our Newsletter